बी.एड.-बी.टी.सी. 2021: बीएड के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति देने का आदेश जारी

बी.एड.-बी.टी.सी. 2021: बीएड के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति देने का आदेश जारी

B.Ed.- BTC Scholarship and Fees Refund 2021

प्रदेश के B.Ed और BTC पाठ्यक्रम में अध्ययनरत आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को सरकारी स्कॉलरशिप देने का आदेश जारी कर दिया गया है।
प्रदेश सरकार ने बी.एड.और बी.टी.सी. की सरकारी छात्रवृत्ति और फीस भरपाई के मामले में इन पाठ्यक्रमों को संचालित करने वाली शिक्षण संस्थाओं की जांच करने के आदेश जारी कर दिया गया हैं।

राज्य सरकार के इस फैसले के बाद छात्र-छात्राओं को सरकारी छात्रवृत्ति और फीस भरपाई (Scholarship and Fee Refund) का लाभ मिलने का रास्ता भी साफ हो गया है। पिछले साल अक्तूबर में अल्पसंख्यक कल्याण निदेशक की अध्यक्षता में एक राज्य स्तरीय जांच कमेटी भी गठित की गई थी।

इस जांच कमेटी को अपनी आठ बिन्दुओं पर जांच रिपोर्ट आगामी 10 मार्च को शासन को सौंपने के निर्देश दिये भी दिये गये थे। मगर अब इस समय सीमा को घटाकर 26 फरवरी तक कर दिया गया है। इस रिपोर्ट के बाद शिक्षण संस्थाएं बीएड और बीटीसी के छात्रों को स्कॉलरशिप देने का काम करेगी.

प्रदेश सरकार ने B.Ed और BTC के कोर्स संचालित करने वाली संस्थानों को सरकारी स्कॉलरशिप और फीस भरपाई के मामले में जांच करने के आदेश दिए थे. अल्पसंख्यक कल्याण निदेशक की अध्यक्षता में गठित कमेटी को 16 फरवरी को निरस्त कर दिया गया था। इसके स्थान पर जिलों के चीफ डेवेलपमेंट ऑफिसर की अध्यक्षता में एक जांच टीम बनाई गई। इस टीम में जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी और सम्बंधित उप जिलाधिकारी को सदस्य बनाया गया।

स्कॉलरशिप का विवरण

कोरोना संकट की वजह से मौजूदा शैक्षिक सत्र में बीटीसी का सत्र शून्य कर दिया गया है इसलिए बीटीसी पाठ्यक्रम में छात्रवृत्ति व फीस भरपाई नहीं दी जाएगी। यह जानकारी समाज कल्याण विभाग के छात्रवृत्ति अनुभाग से जुड़े अधिकारियों से मिली है।

बी.एड.पाठ्यक्रम के छात्र-छात्राओं को प्रथम वर्ष 51 हजार 250 रूपये, और द्वितीय वर्ष 30 हजार रूपये बतौर फीस भरपाई दी जाएगी जाती है इसके अलावा हर साल दो वर्ष के इस पाठ्यक्रम में हर साल लगभग 9 हजार रूपये की छात्रवृत्ति मिलती है।

पिछले शैक्षणिक सत्र यानी 2019-20 में समाज कल्याण विभाग से बी.एड.पाठ्यक्रम के 1लाख 12 हजार और सामान्य वर्ग 15 हजार 875 छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति व फीस भरपाई का लाभ दिया गया था। जिस पर अनुसूचित जाति के बच्चों पर 442 करोड़ और सामान्य वर्ग के बच्चों पर 45.86 करोड़ रूपये का व्यय आया था। पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग ने भी पिछले शैक्षिक सत्र में करीब 80 हजार अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को बी.एड.पाठ्यक्रम में छात्रवृत्ति और फीस भरपाई का लाभ दिया था।

इस प्रकार की लेट्स अपडेट पाने के लिए हमारे इस पेज पर बने रहे ओर पोस्ट को subscribe जरूर करे ताकि आने वाली लेट्स पोस्ट को आप तक पहुंचे।

आप हमारे Group से भी जुड़ सकते है इसकी लिंक नीचे दी गई है और इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

इस पोस्ट से जुड़ी किसी भी प्रकार की कोई समस्या आती है तो आप हमें कॉमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हमारी टीम आपकी समस्या को हल करेगा।

Author: Mukesh

Leave a Reply